जिंदगी

तेरे सारे फलसफे सही,
इक मेरी ही कोशिशों में कमी है,
कभी मेरे हाल में
तू भी तो दुःख जाता ऐ जिंदगी,
क्यों हर बार मेरी ही आँखों में नमी है..

Leave a Reply

Your email address will not be published.