तू है तो

तू है तो ये जहाँ है,
तेरे बिना कुछ भी कहाँ है।
तेरे कदमों से है ये ज़मी,
तेरे ज़ुल्फों से आसमां है।
तू है तो………..

तू है तो खुश है जिन्दगी,
वरना मौत की भी आँखों में है नमी।
ये रास्तों की दूरियाँ तो कभी खलती ना थी,
लेकिन ये दिलों की दूरियाँ अक्सर करती हैं ज़ख्मी।
तू है तो………

ख्वाब नहीं आते अब रातों में,
अब बस तेरी याद आती है।
मदहोशी मे जब भी मै तेरा नाम लेता हूँ,
तो सबकी नज़रें मुझे पागल कह जाती हैं।
तू है तो………..

खुशी में भी मैने अपने अश्कों को टपकते देखा है,
तेरे लिये मैने अपनी रूह को तड़पते देखा है।
तुझे लगता है बहोत खुश होगी जिन्दगी तेरी उसके साथ,
मैने तो ज्यादा मिठास में ही कीड़ों को पनपते देखा है।
तू है तो………..

Satisfaction(संतुष्टि) नही रहा अब मुझमें,
एक चिड़चिड़ापन सा भरने लगा है।
कहने को तो कुछ भी नही लेकर गयी तू मुझसे,
लेकीन ये जीवन खाली सा लगने लगा है।
तू है तो ये जहाँ है,
तेरे बिना कुछ भी कहाँ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.