परिवार

खुशियों का गुलदस्ता महकता, खिलखिलाता
विश्वास का ध्वज अटल, लहराता
समृद्धि का चिन्ह भी यह हैं और शक्ति का प्रमाण भी
अटूट रिश्तों की पहचान है और खुशहाल जीवन की पताका भी

बड़ों को सम्मान और छोटों को प्यार देना
खुशियां बांटना और एक दूजे के दुख हर लेना
साथ मिलकर आगे बढ़ना
मुश्किलों का डटकर सामना करना

यह सब सिखाता है हमें हमारा परिवार
जिसके सामने छोटा लगे संपूर्ण संसार
जब भी हम रोए कंधा उसने दिया
जिंदगी की हर चुनौती के लिए तैयार हमें किया

विजय के वक़्त पीठ थपथपाता हाथ बना
विपदा में संभालने वाला साथ बना
हजारों ताने और अनेकों तकरारें देखी इसने
खूब आलोचना की उसकी, भरोसा तोड़ा जिसने

परंतु हर बार उन कड़वे लम्हों से उभर आया
हर बार दुख के अंधेरे में प्यार का दीप जलाया
एकता, आशा और संपूर्णता का सूरज बनके,
हम सबका इसी ने तो हौसला बढ़ाया

अगर जगमगाती दुनिया देखकर भटक जाओ कभी
तो पीछे मुड़ कर देखना, अपने परिवार को खड़ा पाओगे वहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.