शायद

शायद! वो खूबसूरत है,
बेशक! खूबसूरत है||
इसीलिए उसके पीछे छुपे,
खंजर और बदसलूकी के निशान नहीं दिखते||
शायद! वो कमजोर है
बेशक! क्योंकि वो एक लड़की है,
इसीलिए उसे मुकम्मल करना
और उस पर काबू करना आसान है||
शायद वो सब की इज्जत है
बेशक! क्योंकि उसे चारदीवारी और मर्यादा में रोक,
सब महफूज महसूस करते हैं||
शायद! वो चांद की चमचमाती रोशनी की तरह है||
बेशक! इसीलिए उस पर हजारों दाग लगने मुलाजिम हो जाते हैं||

Leave a Reply

Your email address will not be published.