होली

सर्वप्रथम होली के पावन अवसर पर आप सभी को ढ़ेर सारी शुभकामनाएं।

आप सभी के जीवन में अलग अलग रंगो के जैसे हर तरफ से खुशियां बरसती रहे। आप सभी परिवार समेत सदैव स्वस्थ और खुशहाल रहे।

होली रंगों का रंगीन त्योहार है, प्रेम का त्योहार है। आज हम सब एक दूसरे को प्यार से रंग लगाते है और ये कामना करते है कि इन्हीं रंगो के जैसे आपका जीवन भी हमेशा रंगीन रहे। कोई परेशानी तकलीफ़ आपके जीवन के रंगो को आपसे कभी अलग नहीं कर पाए।

थोड़ी बातें ज्ञान कि करते है…..

बड़े अजीब किस्म के प्राणी हैं हम, हमारे पूर्वजों ने जो प्रथाए बनाई उसको हमने अपने तरीके से बदल लिया, बिना उसका मर्म समझे।

होली में हम प्यार से रंग लगाते हैं ना कि जबरन। कृपया ये ना करे ऐसा कर के इस प्यारे त्योहार का अपमान ना करें। हो सकता है, उसे एलर्जी हो या कोई परेशानी हो तो कृपया उसकी भावनाओं की कदर करे और गले मिल के बधाई दे दे।

एक और बड़ा भारी प्रचलन है, होली का मतलब इस पीढ़ी के लिए होता है ” नशा करो और कपड़े फाड़ो”। क्या बात है इतनी सुन्दर विचारधारा है कि हर साल ना जाने कितने लोग नशे में धुत गाड़ी चलाते हैं और ऐक्सिडेंट के शिकार होते है और कुछ नाली में गोते लगाते हैं।

” बुरा ना मानो होली है” इस पंक्ति की खोज किसने की है? ये तो नहीं पता पर आज इसका बहुत उपयोग दिखता है। छोटे बच्चों पे रंग फेंको, लोगो पर जबरन रंग उड़ेल दो, राह चलते किसी भी लड़की पे रंग फेक दो, और तो और बेजुबां जानवरों तक को नहीं छोड़ते हम और उसके बाद प्रेम से बोलो – “बुरा ना मानो होली है।”

भाई अगर ये होली आपको अच्छी लगती है तो आप को सत् सत् नमन है।

रंगों के त्योहार को हमने कचरा, गोबर, कीचड़, कपड़े फाड़ना और भांग पीने का त्योहार बना के रख छोड़ा है। अपने बच्चों को भी हम यही संस्कार देंगे क्या??

आज आप किसी बच्चे से जरा ये पूछ के देखिए कि हम होली क्यों मनाते है आपको यही उत्तर ज्यादातर मिलेगा “नहीं पता”, क्योंकि हमनें उन्हे कभी बताया ही नहीं। कहां जा रहे है हम और हमारा समाज विचार कीजिए, पर हमे इन चीज़ों से क्या मतलब है।

हमें तो बस अपनी होली से मतलब है। मेरी दादी इसी बात पे कहती है ” जय सियाराम सब ठिके बा “।

बाकी तो सब ठीक ही है………

Comments

  1. शिवानंद मिश्र

    बहुत सुंदर विचार है आपके। आपके विचार लोगों को जागरूक करे यहीं हम ईश्वर से प्रार्थना करते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.