AbhiSai

गिड़गिड़ा कर रोना चाहता हूं किसी के गले लग कर अब ये कहना चाहता हूं…बहुत थक गया हूं.. अब संभाल लो मुझे तुम…किसी के सीने से लग कर अब ये कहना चाहता हूं…. बस प्यार में हूँ सिर्फ तेरे प्यार में हूँ मैं.. अब संभाल लो मुझे तुम..पूरी दुनिया के सामने अब मैं ये कहना …

माँ

जो देख भर ले तो परेशानी समझ जाए…जो सर पर हाथ फेरे तो हिम्मत मिल जाए…जो एक बार मुस्करा दे तो जन्नत मिल जाए…क्या कहूँ अब उस माँ के लिए…बस हर जन्म मुझे यही माँ मिल जाए…