Umeed

छोटी सी, पर है तो|
छोटी सी, पर है तो|
रोशनी कर देती है|
कहनो को नाम उममीद है|
पर जीवन रोशन कर देती है|

अँधेरा कितना भी गहरा क्यू ना हो।
हिम्मत से भर देती है|
छोटी सी, पर है तो|
उममीद, भर देती है।

पत्थर को भी रास्ते से|
पत्थर को भी रास्ते से|
हट्टा दैने का वजूद है|
क्या कहो इतना इसमे जानून है|

लक्ष्य को पाने की जिद है इस्मे|
मुसाफिर को भी रास्ता दीखा देती है|
रेगिस्तान में पानी ढूंढ़कर|
मंजिल तक पहूँचा देती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.